एक दशक से अध‍िक समय में NDTV समूह के सर्वश्रेष्ठ नतीजे; TV को अब तक का सर्वाध‍िक मुनाफा - SARKARI JOB INDIAN

एक दशक से अध‍िक समय में NDTV समूह के सर्वश्रेष्ठ नतीजे; TV को अब तक का सर्वाध‍िक मुनाफा

[ad_1]
[ad_1]

एक दशक से अध‍िक समय में NDTV समूह के सर्वश्रेष्ठ नतीजे; TV को अब तक का सर्वाध‍िक मुनाफा

70.9 करोड़ रुपये के लाभ के साथ NDTV समूह 31 मार्च 2021 को खत्म हुए वित्त वर्ष के नतीजे घोष‍ित कर रहा है जो कि एक दशक से अध‍िक समय में कंपनी के सर्वश्रेष्ठ नतीजे हैं.

समूह की टेलीविजन कंपनी NDTV लिमिटेड ने अब तक के सर्वश्रेष्ठ वार्ष‍िक नतीजे दर्ज किए हैं : 31 मार्च 2021 को समाप्त हुए वित्त वर्ष में 38 करोड़ रुपये का लाभ. यह पिछले वित्त वर्ष की तुलना में 25 करोड़ रुपये का टर्न आराउंड है.

कंपनी की डिजिटल शाखा, NDTV Convergence ने अपने इतिहास में सबसे अधिक राजस्व और EBITDA दर्ज किया है, और इसका अब तक का सबसे बड़ा लाभ 27.9 करोड़ रुपये रहा.

चौथी तिमाही या वित्त वर्ष की आख‍िरी तिमाही में टेलीविजन कंपनी को 17.7 करोड़ रुपये का लाभ हुआ जो कि कंपनी की अब तक की सबसे लाभप्रद चौथी तिमाही है. समूह को इस तिमाही में 26.1 करोड़ रुपये का लाभ हुआ.

p9hl6okg

समूह ने अपने ऑनलाइन गैजेट्स व्यवसाय में बड़ी हिस्सेदारी बेच दी है, जैसा कि 26 मार्च, 2021 को एक्सचेंजों को बताया गया था. इस लेन-देन ने समूह के राजस्व का 8.27% और इसके लाभ का 45.74% योगदान दिया, और इसने 30 करोड़ रुपये के ऋण और देनदारियों को खत्म किया.

पिछले वित्त वर्ष में समूह की बैंक उधारी में 50.5 करोड़ रुपये की कमी आई. बाहरी देनदारियों में 73.3 करोड़ रुपये की कटौती हुई है.

NDTV अपनी टीम के प्रत्येक सदस्य के लिए ऋणी है, इस असाधारण रूप से कठिन वर्ष में उनके साहस और प्रतिबद्धता के लिए. टीम ने रियल टाइम में महामारी के हर पहलू पर रिपोर्ट किया है, पूरी तरह से न्यूज के सिद्धांत पर काम किया जो कि वास्तव में एक आवश्यक सेवा है, और इस समय पत्रकारिता पर पहले से कहीं अधिक जिम्मेदारी है – लोगों तक सही सूचनाएं पहुंचाना और एक देश के रूप में हमारे सामने आने वाली कई चुनौतियों से अवगत रखना. इस असाधारण लोकाचार के लिए, समूह अपने पत्रकारों, कैमरा पर्सन, संपादकीय टीम, इंजीनियरों और कई अन्य लोगों के लिए अपनी गहरी कृतज्ञता और सम्मान व्यक्त करता है.

कंपनी का प्रबंधन और बोर्ड महामारी, राष्ट्रीय लॉकडाउन और अब, घातक दूसरी लहर से शुरू होने वाले छोटे लॉकडाउन की श्रृंखला के कारण बढ़ रही व्यावसायिक चुनौतियों से अच्छी तरह वाकिफ हैं. अर्थव्यवस्था में आने वाली बाधाओं और विज्ञापन पर पड़ने वाले असर के बारे में रोज रिपोर्टें आती रहती हैं. भारत का सबसे विश्वसनीय न्यूज ब्रॉडकास्टर बने रहने का प्रयास करते हुए, महामारी के लगातार दूसरे वर्ष, समूह इसमें सावधानी से काम करेगा.

[ad_2]
[ad_1]

Source link

Leave a comment