ऑक्सीजन कंसेन्ट्रेटर की कालाबाजारी :दिल्ली पुलिस को नहीं मिली नवनीत कालरा की रिमांड,जेल भेजा - SARKARI JOB INDIAN

ऑक्सीजन कंसेन्ट्रेटर की कालाबाजारी :दिल्ली पुलिस को नहीं मिली नवनीत कालरा की रिमांड,जेल भेजा

[ad_1]
[ad_1]

ऑक्सीजन कंसेन्ट्रेटर की कालाबाजारी :दिल्ली पुलिस को नहीं मिली नवनीत कालरा की रिमांड,जेल भेजा

Oxygen concentrator की कालाबाजारी पर कोर्ट ने अपनाया था सख्त रुख (File)

नई दिल्ली: दिल्ली में ऑक्सीजन कंसन्ट्रैटर की कालाबाजारी (Black marketing of oxygen concentrator) के आरोप में पकड़े गए आरोपी नवनीत कालरा (Navneet Kalra) को साकेत कोर्ट ने गुरुवार को न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया है. कोर्ट ने दिल्ली पुलिस की पांच दिनों की रिमांड बढ़ाने की अर्जी नामंजूर कर दी. दिल्ली पुलिस ने नवनीत कालरा का और रिमांड मांगा था. दिल्ली पुलिस ने कहा कि 17 तारीख को देर शाम हमें कालरा की कस्टडी मिली.कालरा का मोबाइल फोन जब्त कर लिया गया है लेकिन उसे सील कर दिया गया है. कोर्ट ने पूछा कि अब क्या  रिकवरी करनी है. इस पर पुलिस की तरफ से कहा गया कि हम फोन के जरिए किए गए लेन-देन की जांच करनी है. कोर्ट ने सवाल उठाया कि उसके लिए कस्टडी की क्या जरूरत है, उसके बिना भी आप कर सकते हैं.

यह भी पढ़ें

ऑक्सीजन कंसंट्रेटर की कालाबाजारी मामला : दिल्ली के ‘खान चाचा’ रेस्टोरेंट का मालिक गिरफ्तार

दिल्ली पुलिस ने कहा कि हमें यह पहचानना होगा कि ये कंसंट्रैटर किसे बेचे गए.  ये कंसेन्ट्रेटर किसी काम के नहीं थे. पुलिस ने लैब  रिपोर्ट का हवाला दिया कि कंसंट्रैटर घटिया दर्जे के थे. इस मामले में लेनदेन में 23 बैंक शाखाएं  शामिल हैं और 516 लेनदेन ऐसे हैं जिनमें 23 बैंक शामिल हैं. पुलिस ने कोर्ट को बताया कि हम कालरा को सोहना रोड गुरुग्राम सहित विभिन्न जगहों पर ले गए थे. 15 दिन की हिरासत का मकसद जांच को आगे बढ़ाना है. हमने कालरा के साथ कोई दुर्व्यवहार नहीं किया है. हमने कालरा के ठिकाने से डायरी, आईपैड आदि बरामद कर लिए है.

कालरा के वकील ने कहा कि कालरा.ने पुलिस के साथ जांच में.सहयोग किया है. कालरा के वकील ने कहा कि अभिनेता सलमान खान ने भी यही मशीन आयात की है. उनका ट्विटर देखा जा सकता है. इस पर पुलिस ने कहा कि  सलमान खान ने इसे मुफ्त में वितरित किया, उन्होंने कोई व्यवसाय नहीं किया है. कालरा के वकील ने कहा कि  पुलिस ने कभी आयातक को पूछताछ के लिए नहीं बुलाया, उनके खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की.

यहां तक कि पुलिस अधिकारियों ने इसे पुलिस कोविड केंद्रों के लिए खरीदा है. सरकार ने लालची लोगों के लिए नहीं, जरूरतमंद लोगों के लिए नीति उदार की थी. जबकि दावा है कि कॉन्संट्रेटर्स प्रीमियम जर्मन गुणवत्ता के हैं. हमारे पास एम्स और श्रीराम लेबोरेटरी की रिपोर्ट है, जो इसे खारिज करती है. 

ICMR ने कोरोना के लिए नए होम टेस्ट किट को दी मंज़ूरी

[ad_2]
[ad_1]

Source link

Leave a comment