जेवर क्षेत्र में कोरोना वायरस का सामना करने के लिए अस्पताल का कायाकल्प - SARKARI JOB INDIAN

जेवर क्षेत्र में कोरोना वायरस का सामना करने के लिए अस्पताल का कायाकल्प

[ad_1]
[ad_1]

जेवर क्षेत्र में कोरोना वायरस का सामना करने के लिए अस्पताल का कायाकल्प

प्रतीकात्मक फोटो.

नई दिल्ली: UP Coronavirus: गांवों में कोरोना संक्रमण लगातार फैल रहा है. दिल्ली से सटे यूपी के अकेले जेवर विधानसभा के तीन दर्जन से ज्यादा गांवों में करीब 160 से ज्यादा लोगों में कोरोना संक्रमण जैसे लक्षण दिखे हैं. ग्रामीण इलाके में फैल रहे संक्रमण को रोकने के लिए अब लोगों की मदद लेने की रणनीति अपनाई जा रही है. गौतमबुद्ध नगर के जेवर कस्बे का सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र बीते 11 साल से बंद पड़ा है. सामुदायिक केंद्र की इमारत बनी लेकिन डाक्टर और स्टाफ आज तक नहीं पहुंचा. कोरोना संक्रमण ने जब गांव में दस्तक दी तो अब सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र को 50 बेड के अस्पताल में बदला जा रहा है.

यह भी पढ़ें

जेवर के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में डॉक्टरों के नाम तो लिखे हैं लेकिन इनमें से कोई भी सालों से नहीं आया है. अब इस अस्पताल में बेड और ऑक्सीजन कन्संट्रेटर रखे जा रहे हैं.

अस्पताल के ऑक्सीजन कन्संट्रेटर स्विट्जरलैंड कामर्स ऑफ इंडस्ट्रीज ने दिए हैं और पंखे से लेकर AC तक लोगों ने दान में दिए हैं. फिलहाल जेवर के विधायक धीरेंद्र सिंह ने एक BAMS डॉक्टर को अपने पैसे से नियुक्त कर दिया है. लोग बताते हैं कि सालों से बंद पड़े अस्पताल की सफाई के दौरान कई सांप निकले. ठेकेदार मोनू गर्ग ने बताया कि अस्पताल इतना गंदा था कि अग्निशमन की गाड़ी से धुलाई हुई है और सांप तक निकले थे, स्टाफ भाग गया था.

बीजेपी के विधायक धीरेंद्र सिंह ने बताया कि ”2011 से सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र बंद पड़ा था, हमने मुख्यमंत्री को बोला. मैंने अपनी निधि से 50 लाख दिए, यमुना विकास प्राधिकरण ने मदद की, लोगों ने खुद दान दिया. अब बनकर तैयार हो गया है.”

जेवर के अब 38 गांवों में सर्वे और टेस्टिंग का काम चल रहा है. खुद विधायक भी अपने स्तर पर गांव-गांव में सर्वे कराकर बीमार लोगों का डाटा इकट्ठा कर रहे हैं. अब तक 30 गांवों में करीब 160 बीमार लोगों में कोरोना जैसे लक्षण दिखे हैं. धीरेंद्र सिंह ने कहा कि हम लोगों ने गांव-गांव में कोरोना वॉरियर ग्रुप बनाया है. उन्हीं से हर गांव में बीमार लोगों की जानकारी इकट्ठी की जा रही है.

रविवार को यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी गाजियाबाद और गौतमबुद्ध नगर का दौरा करेंगे. वे कुछ गांवों में भी जाएंगे, लेकिन संक्रमण रोकने के लिए प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र को सुधारना पहली कोशिश होनी चाहिए.

[ad_2]
[ad_1]

Source link

Leave a comment