ट्रेन सेवा रोकने की कोई योजना नहीं, कोविड निगेटिव सर्टिफिकेट की भी जरूरत नहीं : रेलवे

[ad_1]
[ad_1]

ट्रेन सेवा रोकने की कोई योजना नहीं, कोविड निगेटिव सर्टिफिकेट की भी जरूरत नहीं : रेलवे

रेलवे ने साफ किया है कि रेल सेवाओं को रोकने या ट्रेनें कम करने की उसकी कोई योजना नहीं है

नई दिल्ली: रेलवे (Indian Railway) ने शुक्रवार को कहा कि उसकी रेल सेवाओं को रोकने या ट्रेनें कम करने की कोई योजना नहीं है और साथ ही उसने यात्रियों को जरूरत पड़ने पर अधिक ट्रेनें चलाए जाने का आश्वासन दिया. रेलवे की ओर से यह बयान ऐसे समय में जारी किया गया है, जब कई स्थानों से प्रवासी मजदूरों के घर लौटने की खबरें आ रहीं हैं. रेलवे बोर्ड के अध्यक्ष सुनीत शर्मा (Railway Board Chairman Suneet Sharma) ने यात्रियों को आश्वासन दिया कि ट्रेनों की कोई कमी नहीं होगी और रेलवे ट्रेनों की मांग बढ़ते ही अतिरिक्त ट्रेनों की व्यवस्था करेगा.

यह भी पढ़ें

कोरोना वायरस केसों में फिर सबसे बड़ा उछाल, भारत में एक दिन में 1,31,968 नए केस 

उन्होंने एक संवाददाता सम्मेलन में कहा, ‘‘रेल सेवाओं को रोकने या ट्रेनें कम करने की कोई योजना नहीं है. जितनी जरूरत होगी, हम उतनी ट्रेनें चलाएंगे. परेशानी की कोई बात नहीं है. गर्मियों में यात्रियों की संख्या सामान्य है और भीड़ कम करने के लिए हमने पहले ही अतिरिक्त ट्रेनों की घोषणा कर दी है.” कोविड-19 के बढ़ते मामलों के मद्देनजर ट्रेनों में यात्रा करने वाले लोगों की संख्या में भी बढ़ोतरी हुई है. मीडिया से बात करते हुए कई लोगों ने कहा कि लॉकडाउन के डर के कारण वे अपने गृह निवास लौट रहे हैं.

राहुल गांधी का PM नरेंद्र मोदी को खत : “वैक्‍सीन उनके लिए, जिन्‍हें ज़रूरत है, निर्यात रोका जाए…”

शर्मा ने कहा, ‘‘जो लोग यात्रा करना चाहते हैं, उनके लिए ट्रेनों की कोई कमी नहीं है, मैं सभी को आश्वस्त करना चाहता हूं कि मांग के अनुसार ट्रेनें चलाईं जाएंगी.”रेलवे बोर्ड के अध्यक्ष ने यात्रियों से कोरोना वायरस से संक्रमित न होने की पुष्टि करने वाली रिपोर्ट मांगने की बात भी खारिज कर दी.साथ ही उन्होंने कहा कि वायरस के बढ़ते मामलों के मद्देनजर ट्रेनों की आवाजाही रोकने या उसे कम करने के लिए अभी तक महाराष्ट्र से कोई आधिकारिक परिपत्र नहीं मिला है .

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

[ad_2]
[ad_1]

Source link

Leave a comment