दिल्ली में नया कोविड अस्पताल कल से शुरू होगा, इलाज और सुविधाएं मुफ्त होंगी : डीआरडीओ चीफ - SARKARI JOB INDIAN

दिल्ली में नया कोविड अस्पताल कल से शुरू होगा, इलाज और सुविधाएं मुफ्त होंगी : डीआरडीओ चीफ

[ad_1]
[ad_1]

दिल्ली में नया कोविड अस्पताल कल से शुरू होगा, इलाज और सुविधाएं मुफ्त होंगी : डीआरडीओ चीफ

डीआरडीओ के चीफ जी सतीश रेड्डी (फाइल फोटो).

नई दिल्ली: Coronavirus: कोरोना वायरस संक्रमण बहुत बढ़ रहा है. यह दुर्भाग्यपूर्ण हालात हैं, इसलिए सब एहतियात बरतें. मास्क का इस्तेमाल करें. वैक्सीन अधिक लगानी है. इसे मैक्सिम करने के लिए सरकार बहुत कोशिश कर रही है. इसके लिए डीआरडीओ (DRDO) काफी काम कर रहा है. डीआरडीओ चीफ डॉ जी सतीश रेड्डी (Dr G Satheesh Reddy) ने NDTV से चर्चा में यह बात कही. उन्होंने बताया कि ”डीआरडीओ का दिल्ली में कोविड हॉस्पिटल (COVID Hospital) कल से शुरू हो जाएगा. यह  6-7 दिन में बना है. इसमें 500 आईसीयू बेड की सुविधा है. इसमें इलाज के लिए किसी से एक रुपया तक नहीं लिया जाएगा. ऑक्सीजन से लेकर वेंटिलेटर तक, सब फाइव स्टार की सुविधा होगी. इस कोविड हॉस्पिटल में हर तरह की सुविधा है. जांच की भी सुविधा है. ऐसा हॉस्पिटल देश भर में कहीं नहीं है. खाना और टॉवल तक सब फ्री है.” 

यह भी पढ़ें

उन्होंने कहा कि ”गुजरात में 900 बेड का अस्पताल 24 अप्रैल तक तैयार हो जाएगा. पटना में हॉस्पिटल ऑपरेशल हो गया है. लखनऊ में भी 500 से 600 बेड का कोविड हॉस्पिटल शुरू किया जा रहा है.”

रेड्डी ने कहा कि ”किसी ने ऐसा सोचा नहीं कि हालात इतने खराब हो जाएंगे. कोविड से लड़ने के लिए हॉस्पिटल में बेड और ऑक्सीजन चाहिए. हमने एक बोर्ड भी बनाया है. अस्पताल में प्लांट बनाया है. यह कई जगह लगा रहे हैं. मास्क, सैनेटाइजर सब इंडस्ट्री को तकनीक दे रहे हैं. टेस्टिंग सुविधा दे रहे हैं. अगले तीन-चार दिन में सब तैयार हो जाएगा. देश में 50000 वेंटिलेटर हैं, और जरूरत होगी तो रेडी हो जाएंगे. ऑक्सीजन का दिक्कत भी 5-6 दिन में सॉल्व हो जाएगी.”

उन्होंने कहा कि ”डीआरडीओ केवल तकनीक दे रहा है. राज्य सरकारों को मदद दे रहा है. वेंटिलेटर, ऑक्सीजन प्लांट, टेस्टिंग प्लांट बना रहा है. सैनेटाइजेशन का काम कर रहा है. सेना के डॉक्टर काफी मदद कर रहे हैं. कोविड के दौरान डीआरडीओ लैब में क्वारंटाइन सेंटर बनाया है.” 

डीआरडीओ के प्रमुख ने कहा कि ”सब लोग एहतियात बरतें. मास्क हमेशा पहनें, फंक्शनों में जाने से बचें. डरने की जरूरत नहीं है. वेंटिलेटर देश में उपलब्ध है, जो भी चाहिए सब बन रहा है. जिसको जरूरत है उनको बेड मिलेगा.”

[ad_2]
[ad_1]

Source link

Leave a comment