देश में कुल वैक्‍सीन उत्‍पादन का 57% ही टीकाकरण, केंद्र की ओर से केरल HC को मुहैया कराए गए आंकड़ों से खुलासा - SARKARI JOB INDIAN

देश में कुल वैक्‍सीन उत्‍पादन का 57% ही टीकाकरण, केंद्र की ओर से केरल HC को मुहैया कराए गए आंकड़ों से खुलासा

[ad_1]
[ad_1]

देश में कुल वैक्‍सीन उत्‍पादन का 57% ही टीकाकरण, केंद्र की ओर से केरल HC को मुहैया कराए गए आंकड़ों से खुलासा

कोरोना वैक्‍सीन की कमी के मसले पर केंद्र को आलोचना का सामना करना पड़ रहा है (प्रतीकात्‍मक फोटो)

भारत में इस समय प्रति माह 8.5 से अधिक कोरोना वैक्‍सीज डोज का उत्‍पादन किया गया जा रहा है. केंद्र सरकार की ओर से सोमवार को यह जानकारी केरल हाईकोर्ट में दी गई. जानकारी में बताया गया कि पूरेदेश में इस समय एक दिन में औसतन 12 से 13 लाख वैक्‍सीन पहुंचाई जा रही है. गौरतलब है कि देश में कोरोना वैक्‍सीन की कमी के मसले पर केंद्र सरकार को विपक्ष की तीखी आलोचना का सामना करना पड़ रहा है. उपलब्‍ध कराए गए आंकड़ों के अनुसार, देश में रोजाना का कोरोना वैक्‍सीन का उत्‍पादन करीब 28.33 लाख है और इसका 57% ही लोगों तक पहुंच रहा है.  

यह भी पढ़ें

दिल्ली में 2.52 फीसदी हुई कोरोना संक्रमण दर, पिछले 24 घंटे में सामने आए 1550 नए मामले

  वैक्‍सीन की कमी के कारण दिल्‍ली और महाराष्‍ट्र सहित कई राज्‍यों को अपने यहां वैक्‍सीनेशन सेंटर बंद करने वाले हैं. दूसरी ओर, कई राज्‍य विदेश से वैक्‍सीन खरीदने की कोशिश कर रहे हैं हालांकि इस कोशिश में उन्‍हें ज्‍यादा सफलता नहीं मिली है. केरल हाईकोर्ट ने राज्‍य में कोविड के हालात को लेकर स्‍वत: संज्ञान लिया था, मामले में 20 मई को पिछली सुनवाई में उसने केंद्र सरकार से राज्‍यों के लिए वैक्‍सीनेशन का समयसीमा (time frame) देने को कहा था. हलफनामे में वैक्‍सीनेशन नीति की जानकारी देते  हुए केंद्र ने हाईकोर्ट को बताया कि राज्‍यों और केंद्रशासित क्षेत्र (UT) के लिए वैक्‍सीन वितरण को कोई फिक्‍स टारगेट नहीं है. केंद्र ने कहा कि पुणे स्थित सीरम इंस्‍टीट्यूट ऑफ इंडिया (SII) एक माह में कोविशील्‍ड वैक्‍सीन के 6.5 करोड़ डोज का उत्‍पादन कर रही है. कोवैक्‍सीन की निर्माता भारत बायोटेक एक माह में दो करोड़ डोज का उत्‍पादन कर रही है.

सांसद गौतम गंभीर की ओर से फैबीफ्लू दवाओं के वितरण संबंधी मुद्दे की जांच ड्रग कंट्रोलर करें : दिल्‍ली HC 

इसके साथ ही केंद्र सरकार ने उम्‍मीद जताई कि वैक्‍सीन की आपूर्ति की स्थिति अगले दो माह में सुधर जाएगी उसने कहा कि इस समय इस्‍तेमाल की जा रहीं तीनों वैक्‍सीन के निर्मार्ताओं ने जुलाई से उत्‍पादन बढ़ाने की बात कही है. सीरम इंस्‍टीट्यूट ने अपना मासिक उत्‍पादन पांच करोड़ से बढ़ाकर साढ़े छह करोड़ किया है. इसमें जुलाई तक और बढ़ोत्‍तरी की उम्‍मीद है. भारत बायोटेक का वैक्‍सीन उत्‍पाद प्रति माह 90 लाख डोज से बढ़कर 2 करोड़ डोज प्रति माह पर पहुंचा है, इसमें भी जुलाई तक और इजाफा होगा. यह उत्‍पादन बढ़ते हुए साढ़े पांच करोड़ डोज प्रतिमाह तक पहुंचने की उम्‍मीद है. रूस की वैक्‍सीन स्‍पूतनिक V भी अब भारत में उपलब्‍ध है. इसका उत्‍पादन 30 लाख प्रति माह से बढ़कर जुलाई तक 1.2 करोड़ तक प्रतिमाह पहुंचने की उम्‍मीद है. 

सिक्किम में करीब 100 बौद्ध भिक्षु कोरोना पॉजिटिव

[ad_2]
[ad_1]

Source link

Leave a comment