बंगाल चुनाव: ममता बनर्जी के 'खेला होबे' के जवाब में पुरुलिया में PM नरेंद्र मोदी बोले- 'विकास होबे' - SARKARI JOB INDIAN

बंगाल चुनाव: ममता बनर्जी के ‘खेला होबे’ के जवाब में पुरुलिया में PM नरेंद्र मोदी बोले- ‘विकास होबे’

[ad_1]

बंगाल चुनाव: ममता बनर्जी के 'खेला होबे' के जवाब में पुरुलिया में PM नरेंद्र मोदी बोले- 'विकास होबे'

PM Rally at Purulia, West Bengal: पीएम मोदी ने कहा कि पुरुलिया को पिछड़ा क्षेत्र बनाने के लिए ममता दीदी का हिसाब देना होगा.

खास बातें

  • पीएम मोदी ने बंगाल के पुरुलिया में की चुनावी रैली
  • कहा- लेफ्ट और टीएमसी की सरकारों ने पुरुलिया में विकास होने नहीं दिया
  • PM बोले- ‘बीजेपी की सरकार में खेला न होवे, विकास होवे’, खुलेंगे स्कूल

PM Modi in Purulia: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi)पश्चिम बंगाल के पुरुलिया में चुनावी सभा को संबोधित कर रहे हैं. उन्होंने अपने संबोधन की शुरुआत ही  पुरुलिया की समस्या को उठाते हुए की. पीएम ने कहा कि पुरुलिया में पानी का बहुत संकट है. यहां के किसानों को इतना पानी भी नहीं मिलता कि वो सही से खेती कर पाएं. यहां की महिलाओं को पीने के पानी के इंतजाम के लिए बहुत दूर तक जाना पड़ता है… यहां सिंचाई के लिए जितना काम होना चाहिए था वो भी नहीं हुआ.

यह भी पढ़ें

पीएम ने कहा, “कम पानी की वजह से पुरुलिया के इलाके में पशुओं को पालने में जो दिक्कत होती है वो  भी मैं जानता हूं. खेती किसानी की दिक्कतों को छोड़कर टीएमसी सरकार अपने ही खेल में लगी रही. पीएम ने कहा, “लेफ्ट और टीएमसी ने पुरुलिया को दिया जलसंकट, पलायन और भेदभाव से भरा शासन.”

बंगाल चुनाव: टिकट बंटवारे में BJP को करना पड़ रहा महामंथन, सुबह 4 बजे तक चली मीटिंग

पुरुलिया में पीएम मोदी की अहम बातें:

  1. पीएम ने कहा, “मैं पुरुलिया के लोगों को विश्वास दिलाने के लिए आया हूं कि बंगाल में भाजपा सरकार बनने के बाद आपकी दिक्कतों को प्राथमिकता के आधार पर दूर किया जाएगा. जब बंगाल में डबल इंजन की सरकार बनेगी, एक दिल्ली का इंजन और दूसरा बंगाल का इंजन,  तो यहां का विकास भी होगा और आपका जीवन भी आसान बनेगा.”
  2. प्रधानमंत्री ने कहा, “पुरुलिया को पिछड़ा क्षेत्र बनाने के लिए ममता दीदी का हिसाब देना होगा. पश्चिम बंगाल के हर हिस्से को रेल सेवा से जोड़ना हमारी प्राथमिकता है. इस समय पश्चिम बंगाल के अलग-अलग हिस्सों में करीब 50 हजार करोड़ के प्रोजेक्ट के लिए स्वीकृति दी गई है.”
  3. आदिवासी बहुल इलाके को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा, “2 मई के बाद यहां जब BJP सरकार बनेगी, तब पुरुलिया सहित इस पूरे क्षेत्र में ऐसी व्यवस्थाएं बनाई जाएंगी ताकि लोगों को पलायन के लिए मजबूर न होना पड़े. यहां कृषि आधारित उद्योगों को बल दिया जाएगा ताकि यहां के युवाओं को यहीं पर ज्यादा से ज्यादा रोजगार मिल सके. गरीब आदिवासी युवाओं को रोजगार से जोड़ने के लिए कौशल विकास पर अधिक फोकस किया जाएगा. यहां की महिलाओं को रोजगार और मान सम्मान से जुड़ी दूसरी सुविधाएं मिले ये सुनिश्चित किया जाएगा.”
  4. पीएम ने कहा, “मां माटी मानुष की बात करने वाली दीदी को अगर वाकई आम लोगों की परवाह होती तो दीदी की निर्मम सरकार ने माफियाओं के माध्यम से गरीबों को नहीं लूटती. कोयला माफिया, बालू माफिया को किसका संरक्षण मिला है, ये सब जानते हैं.. अपने राजनीतिक लाभ के लिए ऐसा करती हैं. इसका नुकसान यहां के गरीबों, किसानों और माताओं और बहनों को उठाना पड़ता है.”
  5. पीएम मोदी ने कहा, “आज बंगाल की जनता कह रही है कि अत्याचार बर्दाश्त नहीं करेंगे और मां दुर्गा के आशीर्वाद से टीएमसी की पराजय होगी. आम जनता का उत्साह से साफ दिख रहा है कि टीएमसी की पराजय तय है.”
  6. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा, “दीदी कहती हैं, खेला होबे… BJP कहती है विकास होबे, BJP कहती है, स्कूल, अस्पताल होबे… दीदी, आपने 10 साल खेल लिया, अब खेला खत्म होगा, विकास शुरू होगा…”
  7. पीएम ने कहा, “दिल्ली की अदालत ने हाल ही में बड़ा फैसला सुनाया है. बटला एनकाउंटर पर ये लोग आतंकवादियों के साथ खड़े थे. तुष्टिकरण के लिए ये लोग कहां तक जा सकते हैं ये इसका ही उदाहरण है. बंगाल के लोग बहुत पहले से मन बना चुके हैं कि लोकसभा में टीएमसी हार और इस बार पूरी साफ. लोगों का ये इरादा देख दीदी अपनी खींझ मुझ पर निकाल रही हैं. वो क्या क्या नहीं कह रहीं. वो भाजपा के कार्यकर्ताओं पर भड़की रहती हैं.” 

  8. पीएम मोदी ने रैली में ममता की चोट पर बयान दिया. उन्होंने कहा कि जब दीदी को चोट लगी तो मुझे भी चिंता हुई. मेरी भगवान से प्रार्थना है कि उनकी चोट जल्द ठीक हो.

ममता ने जारी किया TMC का घोषणापत्र; हर साल 5 लाख नौकरियों का वादा

मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के चोटिल होने के बाद पीएम मोदी की यह पहली रैली है. माना जा रहा है कि बीजेपी ने बंगाल में अपनी चुनावी रणनीति में बदलाव किया है. इसी के तहत पीएम ने ममता बनर्जी पर पर्सनल अटैक नहीं किया बल्कि उनकी सरकार की नाकामियों को उजागर किया और लोगों को बीजेपी सरकार के सपने दिखाए. पीएम की यह रैली तय कार्यक्रम से दो दिन पहले हुई है. यह भी उसी बदली रणनीति का हिस्सा है. 

[ad_2]

Source link

Leave a comment