बिहार में COVID-19 के 2603 नए मामले, AIIMS के डॉक्टर समेत 99 लोगों की मौत - SARKARI JOB INDIAN

बिहार में COVID-19 के 2603 नए मामले, AIIMS के डॉक्टर समेत 99 लोगों की मौत

[ad_1]
[ad_1]

बिहार में COVID-19 के 2603 नए मामले, AIIMS के डॉक्टर समेत 99 लोगों की मौत

बिहार में अब तक कोरोना से 4845 लोगों की मौत हुई है. (फाइल फोटो)

पटना: बिहार (Bihar Coronavirus) में बुधवार को COVID-19 के 2603 नए मामले आए और 99 और लोगों की मौत हो गई. संक्रमण के कारण पिछले 24 घंटों के दौरान पटना एम्स के कोविड वार्ड में कार्यरत डॉक्टर प्रदीप कुमार सहित 99 और लोगों की मौत हो गयी. राज्य में अब तक 4845 लोगों की मौत हुई है और संक्रमित हुए लोगों की संख्या 6,98,329 है. एम्स, पटना के कोविड मामलों के प्रभारी डॉक्टर संजीव कुमार ने बताया कि अस्पताल के कोविड वार्ड में कार्यरत डॉक्टर प्रदीप कुमार अपने वार्ड में मरीजों का इलाज करने के दौरान संक्रमित हो गए थे. उपचार के दौरान मंगलवार रात को आइसीयू में उन्होंने आखिरी सांस ली.

यह भी पढ़ें

युवा डॉक्टर की मौत से एम्स के डॉक्टर, नर्स आदि सभी स्वास्थ्य कर्मी मर्माहत हैं. फैकल्टी एसोसिएशन एम्स पटना ने शोक व्यक्त करते हुए मांग की है कि प्रधानमंत्री बीमा योजना के तहत मृतक डॉक्टर के परिवार को 50 लाख की राशि जल्द से जल्द मुहैया कराई जाए. प्रदीप कुमार 32 साल के थे. स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक, पिछले 24 घंटे के दौरान पटना में पंद्रह, बेगूसराय एवं पश्चिम चंपारण में दस-दस, सारण में नौ तथा बाकी मरीजों की मौत अन्य जिलों में हुई.

भारत में एंटीबॉडी कॉकटेल से कोरोना का पहला सफल इलाज, मरीज को अस्पताल से मिली छुट्टी

संक्रमण के सबसे ज्यादा 316 मामले पटना से आए हैं. बिहार में कोरोना संक्रमण से सबसे अधिक प्रभावित अन्य प्रमुख जिलों अररिया में 88, औरंगाबाद में 56, बेगूसराय में 177, भागलपुर में 50, दरभंगा में 117 मामले आए. राज्य में अब तक 6,62,491 मरीज ठीक हो चुके हैं.

पिछले 24 घंटों के दौरान 6,641 मरीज स्वस्थ हुए. पिछले 24 घंटों के दौरान कुल 131916 नमूनों की जांच की गयी. बिहार में वर्तमान में कोविड 19 के उपचाराधीन मरीजों की संख्या 30,992 है. बिहार में बुधवार को 18 से 44 वर्ष और 45 वर्ष से उपर के कुल 65,112 लोगों ने टीके की खुराक ली. प्रदेश में अबतक 1,02,03,447 लोग टीका ले चुके हैं.

VIDEO: नहीं टला है कोरोना का खतरा, लापरवाही से बढ़ेगी मुश्किल

(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

[ad_2]
[ad_1]

Source link

Leave a comment