भारत में कोरोना महामारी का सबसे बदतर महीना रहा मई, करीब एक तिहाई मामले और मौतें इसी महीने - SARKARI JOB INDIAN

भारत में कोरोना महामारी का सबसे बदतर महीना रहा मई, करीब एक तिहाई मामले और मौतें इसी महीने

[ad_1]
[ad_1]

भारत में कोरोना महामारी का सबसे बदतर महीना रहा मई, करीब एक तिहाई मामले और मौतें इसी महीने

India Coronavirus Cases :भारत में रोजाना 2 लाख से कम कोरोना के नए मामले दर्ज हो रहे हैं. 

नई दिल्ली: भारत में 30 जनवरी 2020 से 2021 में अब तक कोरोना का सबसे बदतर महीना मई (Coronavirus Worst affected Month) साबित हुआ है.  मई में कोरोना की दूसरी लहर के दौरान वायरस के 88.82 लाख से अधिक मामले सामने आए. यह भारत में अब तक कोरोना संक्रमित 2.8 करोड़ से अधिक लोगों का 31.67 फीसदी है.  मई में महामारी के चलते 1 लाख 17 हजार 247 लोगों ने दम तोड़ा, जो अब तक देश में वायरस से हुई 3.29 लाख मौतों का 35.63 फीसदी है.

यह भी पढ़ें

सात मई को 24 घंटे में कोरोना के रिकॉर्ड 4,14,188 मामले सामने आये. जबकि 19 मई को सबसे अधिक 4529 मरीजों ने अपनी जान गंवाई. रोजाना नए मामले 17 मई से तीन लाख से नीचे रहे और देश में पिछले चार दिनों से प्रतिदिन दो लाख से कम मामले सामने आ रहे हैं. देश में सर्वाधिक एक्टिव केस 10 मई को 37,45,237 थे. स्वास्थ्य मंत्रालय के सोमवार सुबह 9 बजे के आंकड़ों के अनुसार, भारत में पिछले 50 दिनों में सबसे कम 1,52,734 नए केस सामने आए.

कोरोना का इलाज करा रहे मरीजों की संख्या घटकर 20,26,092 रह गई हैं. सोमवार को 3128 मरीजों की जान गई. स्वस्थ होने वाले की संख्या लगातार 18 वें दिन एक बार फिर नए मामलों से अधिक रही है. पिछले 24 घंटों में 2,38,022 मरीजों ने महामारी को मात दी. अब तक 2,56,92,342 रोगी संक्रमण से स्वस्थ हो चुके हैं. जबकि मृत्युदर 1.17 फीसदी है.देश में इलाज करा रहे कोरोना मरीजों का अनुपात अब कुल संक्रमितों का 7.22 फीसदी रह गया है. जबकि स्वस्थ होने की दर 91.60 हो गई है.

[ad_2]
[ad_1]

Source link

Leave a comment