महाराष्ट्र: गृहमंत्री की हो सकती है छुट्टी, शरद पवार के घर बैठक, उद्धव भी करेंगे मीटिंग- 10 बड़ी बातें - SARKARI JOB INDIAN

महाराष्ट्र: गृहमंत्री की हो सकती है छुट्टी, शरद पवार के घर बैठक, उद्धव भी करेंगे मीटिंग- 10 बड़ी बातें

[ad_1]

महाराष्ट्र: गृहमंत्री की हो सकती है छुट्टी, शरद पवार के घर बैठक, उद्धव भी करेंगे मीटिंग- 10 बड़ी बातें

नई दिल्ली:
मुंबई पुलिस के पूर्व आयुक्त परमबीर सिंह द्वारा महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख पर लगाए गए आरोपों के बाद उन्हें पद से हटाने की आशंका और अफवाहों के बीच राज्य के उप मुख्यमंत्री अजित पवार और एनसीपी प्रदेश अध्यक्ष जयंत पाटिल आज प्रमुख अध्यक्ष शरद पवार के नई दिल्ली स्थित आवास पर बैठक करेंगे. हालांकि, पाटिल ने कहा कि बैठक का कार्यक्रम तीन दिन पहले ही बनाया गया था और इसमें पंढरपुर विधानसभा क्षेत्र में अगले महीने होने वाले उप चुनाव के संबंध में चर्चा की जाएगी.

मामले से जुड़ी अहम जानकारियां :

  1. महाविकास अघाड़ी गठबंधन के एक वरिष्ठ नेता ने NDTV से कहा कि देशमुख पर लगे आरोप गंभीर हैं, ऐसे में उन्हें अपना पद छोड़ना पड़ सकता है. इस नेता ने बताया कि मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे भी कुछ ऐसा ही विचार रखते हैं और वो इस विषय में आज शाम एक अहम मीटिंग कर सकते हैं, जिसमें शिवसेना और नेशनलिस्ट कांग्रेस पार्टी के नेता मौजूद रहेंगे.

  2. महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को शनिवार को लिखे पत्र में मुंबई के पूर्न पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह ने आरोप लगाया है कि अनिल देशमुख, पुलिस अधिकारियों को बार और होटल से प्रतिमाह 100 करोड़ रुपये वसूली के लिए कहते थे. एनसीपी सदस्य और राज्य के गृह मंत्री देशमुख ने इन आरोपों का खंडन किया है. 

  3. दिल्ली में बैठक पर महाराष्ट्र के जल संसाधन मंत्री पाटिल ने कहा कि दिल्ली दौरे की योजना तीन दिन पहले बनी थी. उन्होंने कहा, “अगले महीने पंढरपुर विधानसभा क्षेत्र में उप चुनाव होने वाले हैं. अजित दादा और मैंने उम्मीदवार के चयन और पार्टी की रणनीति पर चर्चा करने के लिए सोलापुर जिले में पार्टी कार्यकर्ताओं से मुलाकात करने का निर्णय लिया है. इसके बाद हम दिल्ली में पवार साहब से मुलाकात करेंगे और मुंबई लौट आएंगे.” पाटिल ने कहा, “हम दोनों उप चुनाव के बारे में पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ चर्चा करने के लिए पंढरपुर में हैं। इसके बाद हम (पवार से मिलने) दिल्ली जाएंगे.”

  4. महाराष्ट्र के पूर्व सांसद संजय निरुपम ने कहा है कि कांग्रेस को मुंबई पुलिस के पूर्व आयुक्त परमबीर सिंह के दावे पर अपना रुख स्पष्ट करना चाहिए. निरुपम ने ट्वीट किया, ‘‘परमबीर सिंह जो कह रहे हैं, अगर उसमें सच्चाई है तो माननीय शरद पवार जी से सवाल पूछा जाना चाहिए क्योंकि वर्तमान महाराष्ट्र सरकार को उन्हीं ने बनाया है. क्या कथित तीसरा मोर्चा अंततः यही सब करेगा? कांग्रेस को इस मुद्दे पर रुख स्पष्ट करना चाहिए.”निरुपम का बयान ऐसे वक्त में आया है जब आईपीएस अधिकारी के “लेटर बम” से शिवसेना, राकांपा और कांग्रेस की महा विकास अघाड़ी सरकार पर पहले ही दबाव है. निरुपम पहले शिवसेना में थे और वह 2005 में कांग्रेस में शामिल हो गए थे.

  5. महाराष्ट्र प्रदेश कांग्रेस कमिटी के प्रवक्ता सचिन सावंत ने इस बारे में एक के बाद एक ट्वीट कर बीजेपी पर आरोप लगाए हैं. उन्होंने लिखा है, “महाराष्ट्र में भी, विनोद राय प्रवृत्तियाँ प्रशासन में हैं. कांग्रेस गठबंधन सरकार को सत्यपाल सिंह के बारे में पता नहीं है? पत्र स्पष्ट रूप से बाद का लिखा हुआ प्रतीत होता है. जो पत्राचार आज किया गया है, वह सालभर पहले हुआ होता. एंटीलिया के मामले के बाद कोई भी समझदार व्यक्ति ऐसा नहीं करेगा.”

  6. महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस की पत्नी अमृता फडणवीस ने संकेत दिया कि राज्य के गृह मंत्री अनिल देशमुख पर आईपीएस अधिकारी परमबीर सिंह द्वारा लगाए गए आरोपों के दूरगामी नतीजे होंगे. उन्होंने ट्वीट किया, ‘‘जिस तरह से चीजें शुरू हुई हैं, यह दूर तक जाएंगी. राजा को बचाने के लिए आखिर कितनों को बलि देनी होगी.”

  7. मुंबई के पूर्व पुलिस आयुक्त परमबीर सिंह द्वारा महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे को भेजी गई बिना हस्ताक्षर वाली चिट्ठी का सत्यापन कराया जा रहा है. यह जानकारी शनिवार रात को एक आधिकारिक बयान में दी गई है. परमबीर सिंह ने इस पत्र में महाराष्ट्र के गृहमंत्री अनिल देशमुख के खिलाफ भ्रष्टाचार के गंभीर आरोप लगाए हैं. मुख्यमंत्री कार्यालय (सीएमओ) ने कहा, ‘‘परमबीर सिंह, कमांडेंट जनरल, होमगार्ड के नाम से मुख्य मंत्री सचिवालय के आधिकारिक इमेल पते पर पत्र आया है.”बयान में कहा गया कि ईमेल पते को सत्यापित करने की जरूरत है क्योंकि आधिकारिक दस्तावेजों में दर्ज सिंह का ई-मेल पता अलग है.

  8. महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख ने कहा कि वह भ्रष्टाचार के आरोप लगाने के लिये मुंबई के पूर्व पुलिस आयुक्त परमबीर सिंह के खिलाफ मानहानि का मामला दर्ज कराएंगे. इससे पहले, देशमुख ने ट्वीट कर सिंह के आरोपों को खारिज कर दिया कि उन्होंने पुलिस अधिकारियों को बार, रेस्त्रां और अन्य प्रतिष्ठानों से हर महीने 100 करोड़ रुपये वसूलने के लिये कहा था.

  9. देशमुख ने एक बयान में सिंह से यह भी पूछा कि वह इतने लंबे समय तक क्यों चुप रहे? उन्होंने आरोप लगाया कि बुधवार को मुंबई पुलिस आयुक्त के पद से हटाए गए सिंह सचिन वाजे प्रकरण में अपने आपको बचाने की कोशिश कर रहे हैं. देशमुख ने कहा, ”मुकेश अंबानी मामले और मनसुख हिरन मौत मामले में सचिन वाजे की संलिप्तता के बारे में पता चल चुका है और जांच की आंच परम बीर सिंह तक पहुंचने वाली है. इसी आशंका के चलते उन्होंने ये आरोप लगाए हैं.”

  10. उद्योगपति मुकेश अंबानी के आवास के पास विस्फोटकों से लदा एक वाहन पाए जाने से जुड़े मामले में पुलिस अधिकारी सचिन वाजे की गिरफ्तारी के बाद इस हफ्ते की शुरूआत में वरिष्ठ आईपीएस अधिकारी सिंह का तबादला कर होमगार्ड में भेज दिया गया था. तब सिंह ने कहा था कि उन्हें इस मामले में बलि का बकरा बनाया गया है. (भाषा इनपुट्स के साथ)

[ad_2]

Source link

Leave a comment