संक्रमण की सुनामी: दिल्ली में लॉकडाउन लागू होते ही लौटने लगे प्रवासी मजदूर, 18 साल से ऊपर वालों को भी वैक्सीन, 10 बातें - SARKARI JOB INDIAN

संक्रमण की सुनामी: दिल्ली में लॉकडाउन लागू होते ही लौटने लगे प्रवासी मजदूर, 18 साल से ऊपर वालों को भी वैक्सीन, 10 बातें

[ad_1]
[ad_1]

संक्रमण की सुनामी: दिल्ली में लॉकडाउन लागू होते ही लौटने लगे प्रवासी मजदूर, 18 साल से ऊपर वालों को भी वैक्सीन, 10 बातें

लॉकडाउन के ऐलान के बाद दिल्ली के आनंद विहार स्टेशन पर प्रवासी श्रामिकों की लगी भीड़

नई दिल्ली:
कोरोना संक्रमण ने अब भारत में सुनामी का रूप ले लिया है. इसका प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष प्रभाव चारों तरफ देखने को मिल रहा है. अस्पतालों में मरीजों की और श्मशानों में मृतकों की बढ़ती तादाद कोविड-19 के विकराल हो चुके रूप को चिल्ला चिल्लाकर बयां कर रही हैं. स्वास्थ्य व्यवस्था बिखर चुकी है. न अस्पतालों में बेड बचे और न ही दवाइयां, ऑक्सीजन के लिए परिजन सड़कों पर बदहवास घूम रहे हैं और इसके सिलेण्डरों के लिए झगड़े और मारपीट हो रही है. वहीं अप्रत्यक्ष प्रभाव देखने के लिए आप मेट्रो सिटीज और महानगरों के स्टेशनों का रुख करें, जहां बड़ी संख्या में पलायन हो रहा है. प्रवासी श्रामिक इस बार स्थितियों के बदतर होने का इंतजार नहीं कर रहे हैं बल्कि लॉकडाउन की आहट भर से अपने गांवों की तरफ चल दिए हैं. इन सबके बीच दिल्ली में कल रात 10 बजे से अगले सोमवार सुबह 5 बजे तक लॉकडाउन लागू कर दिया गया है. वहीं दूसरी तरफ इलाहाबाद हाईकोर्ट ने उत्तर प्रदेश के पांच शहरों में आज से लॉकडाउन लगाने का फैसला दिया था लेकिन राज्य सरकार ने इसे लगाने से इनकार कर दिया. लोगों की जीविका का हवाला देते हुए उत्तर प्रदेश सरकार ने कोर्ट से कहा कि लॉकडाउन लगाना फिलहाल संभव नहीं. इन दर्द भऱी खबरों के बीच मामूली राहत इस बात से महसूस की जा सकती है कि अब देश में वैक्सीन के लिए उम्र सीमा को घटाकर 18 वर्ष कर दिया गया है. 1 मई से 18 वर्ष की आयु से ऊपर वाले लोगों को कोरोना रोधी टीके की खुराक दी जाएगी.

मामले से जुड़ी अहम जानकारियां :

  1. देश में मई माह से कोरोना टीकाकरण का दायरा बढ़ाया जाएगा और एक मई से 18 वर्ष से अधिक उम्र के लोग भी टीका लगवा सकेंगे. पीएम नरेंद्र मोदी की ओर से सोमवार को कोरोना स्थिति को लेकर की गई लगातार बैठकों के बाद केंद्र सरकार ने यह ऐलान किया.1 मई से ओपन मार्केट में वैक्सीन उपलब्ध होगी लेकिन टीका लेने के लिए प्रोटोकॉल का पालन करना होगा. जिसके तहत कोविन प्लेटफॉर्म पर रजिस्टर करना होगा.

  2. कोरोना वायरस के मामलों में हो रही भयावह बढ़ोतरी को देखते हुए दिल्ली में कल रात 10 बजे से 26 अप्रैल की सुबह तक के लिए कर्फ्यू लगा दिया गया है. 

  3. लॉकडाउन का ऐलान होते ही दिल्ली के आनंद विहार और कौशांबी बस स्टेशनों पर प्रवासी श्रामिकों का हुजुम उमड़ पड़ा. 2020 की तस्वीरों को याद दिलाता मंजर बयां कर रहा है कि कोरोना एक बार अर्थव्यवस्था की कमर तोड़ने के लिए तैयार है.  

  4. पश्चिम बंगाल में कोविड-19 संकट की छाया लंबे विधानसभा चुनाव कार्यक्रम पर भी पड़ गई है. राजनीतिक दलों ने घोषणा की है कि वे चुनाव के शेष तीन चरणों में विशाल रैलियां नहीं करेंगे. साथ ही आज से राज्य में सभी स्कूलों को बंद करने का भी आदेश जारी किया गया. सोमवार को एक दिन में कोरोना वायरस संक्रमण के सबसे अधिक 8,426 मामले सामने आए. 

  5. महाराष्ट्र के मंत्री विजय वडेट्टीवार ने सोमवार को कहा कि मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के अगले दो दिनों में सख्त लॉकडाउन के बारे में फैसला करने की उम्मीद है क्योंकि मौजूदा प्रतिबंध कोविड-19 को रोकने के लिए उतने कारगर नहीं हो पा रहे हैं. 

  6.  कोविड-19 के मामलों में वृद्धि बीच दिल्ली स्थित अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (AIIMS) ने अपनी फिजिकल ओपीडी सर्विस को बंद करने और सामान्य मरीजों को भर्ती करने संबंधी सेवा को सस्पेंड करने का फैसला किया है, जिससे कि वायरस के प्रसार को रोका जा सके और संसाधनों को कोरोना वायरस से संक्रमित रोगियों के इलाज में लगाया जा सके. 

  7. पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह को कोरोना वायरस संक्रमित पाए जाने पर दिल्ली के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (AIIMS) के ट्रामा सेंटर में भर्ती किया गया है. कोरोना की जांच करने पर वे पॉजिटिव पाए गए जिसके बाद उन्हें एम्स में दाखिल किया गया है. समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक एम्स की ओर से यह जानकारी दी गई है. 

  8. जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय प्रशासन ने सोमवार को अपने केन्द्रीय पुस्तकालय को बंद करने की घोषणा की और अपने परिसर में कई प्रकार की पाबंदियां लगा दीं. राष्ट्रीय राजधानी में कोरोना वायरस संक्रमण के तेजी से बढ़ते मामलों को देखते हुए एक सप्ताह के लिए लॉकडाउन लगाया गया है. 

  9. केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि सोमवार शाम तक भारत में पात्र लोगों को कोरोना वायरस संक्रमण रोधी टीके की 12.69 करोड़ से अधिक खुराक दी जा चुकी हैं. मंत्रालय ने बताया कि सोमवार को 73,600 कोविड-19 टीकाकरण केन्द्र संचालित हुए, जो अब तक सबसे बड़ी संख्या है. 

  10. कोविड-19 के मामलों मे वृद्धि के चलते हरिद्वार में महाकुंभ से प्रमुख अखाड़ों के संतों ने वापस जाना शुरू कर दिया है, जिसके बाद भीड़ में अचानक भारी कमी आई है. सोमवार को कई स्थानों पर भीड़ नहीं दिखी. आधिकारिक रूप से 30 अप्रैल को समाप्त होने वाले हरिद्वार कुंभ मेले के दौरान यह अकल्पनीय नजारा है. 

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)

[ad_2]
[ad_1]

Source link

Leave a comment