International Women's Day: महिलाओं को समय पर करवा लेने चाहिए ये 7 हेल्थ टेस्ट, वरना बाद में होगा पछतावा! - SARKARI JOB INDIAN

International Women’s Day: महिलाओं को समय पर करवा लेने चाहिए ये 7 हेल्थ टेस्ट, वरना बाद में होगा पछतावा!

[ad_1]

International Women's Day: महिलाओं को समय पर करवा लेने चाहिए ये 7 हेल्थ टेस्ट, वरना बाद में होगा पछतावा!

International Women’s Day 2021: प्रत्येक महिला को कुछ टेस्ट समय पर करवा लेने चाहिए.

खास बातें

  • प्रत्येक महिला कुछ टेस्ट समय पर करवा लेने चाहिए.
  • एनीमिया के लिए स्क्रीनिंग एक बुनियादी टेस्ट है.
  • ब्लड शुगर लेवल के लिए मेडिकल जांच जरूरी है.

International Women’s Day 2021: अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस हर साल 8 मार्च को मनाया जाता है. एक महिला अपने जीवन में कई परिस्थितियों से गुजरती है. वह काम और अपने निजी जीवन के बीच एक सही संतुलन बनाने की कोशिश करती है. हेल्दी डाइट से लेकर फिटनेस तक, ऐसे कई फैक्टर्स हैं जिनका ध्यान रखकर महिलाएं अपनी सेहत को हेल्दी और बीमारियों को दूर रख सकती हैं. फिटनेस के लिए अच्छी डाइट लेने के साथ-साथ नियमित हेल्थ चेकप्स करना जरूरी है. व्यस्त कार्यक्रमों के बीच, प्रत्येक महिला को रोग-मुक्त जीवन शैली प्राप्त करने के लिए कुछ टेस्ट समय पर करवा लेने चाहिए. आज हम महिलाओं के लिए कुछ हेल्थ टेस्ट के बारे में बता रहे हैं जो महिलाओं के लिए बहुत जरूरी हैं.

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस पर जानें महिलाओं के लिए जरूरी हेल्थ टेस्ट | Learn Important Health Test For Women On International Women’s Day

यह भी पढ़ें

1. एनीमिया के लिए टेस्ट: देश में महिलाओं में एनीमिया एक आम समस्या है. इसके पीछे कई संभावित कारण हैं जैसे कुपोषण, भारी माहवारी, रक्तस्राव विकार और कई अन्य कारक. एनीमिया के लिए स्क्रीनिंग एक बुनियादी टेस्ट है जिसे हर महिला को गुजरना चाहिए.

2. थायराइड प्रोफाइल: भारतीय महिलाओं में थायराइड भी एक आम समस्या है और वजन बढ़ने के पीछे भी एक कारण है. यह एक सामान्य टेस्ट है जो एक साधारण ब्लड टेस्ट के माध्यम से किया जा सकता है. जो हर महिला को करना चाहिए.

thyroid 650

International Women’s Day 2021: यह एक सामान्य टेस्ट है जो एक ब्लड टेस्ट के जरिए किया जा सकता है

3. ब्लड शुगर लेवल की जांच: ब्लड शुगर टेस्ट भी जरूरी है. क्योंकि एक बार यह बीमारी होने पर यह जीवन भर के लिए बोझ बन सकती है. दुनियाभर में डायबिटीज के मरीज बढ़ रहे हैं. देश में डायबिटीज के मामलों में वृद्धि हुई है. डायबिटीज या ब्लड शुगर लेवल के लिए मेडिकल जांच जरूरी है. गर्भावस्था से पहले ब्लड शुगर टेस्ट भी बच्चे के डायबिटीज के खतरे को नियंत्रित करने के लिए जरूरी है.

4. हाई ब्लड प्रेशर टेस्ट: इन दिनों हाई ब्लड प्रेशर भी एक सामान्य स्वास्थ्य समस्या है. हाई ब्लड प्रेशर हृदय रोगों के जोखिम को बढ़ा सकता है. उचित परीक्षा से चिकित्सकों को उच्च रक्तचाप के वास्तविक कारण का पता लगाने में मदद मिलेगी और इससे जुड़ी स्वास्थ्य समस्याओं को रोकने में भी मदद मिल सकती है. नियमित जांच से रक्तचाप के जोखिम को कम करने में मदद मिल सकती है.

5. दिल की सेहत के लिए लिपिड प्रोफाइल: महिला के दिल की सेहत का निर्धारण करने के लिए लिपिड प्रोफाइल का टेस्ट किया जाना चाहिए. इन दिनों दिल की बीमारियां भी बढ़ रही हैं और ज्यादातर महिलाएं इसका टेस्ट न कराकर इससे पीड़ित हैं. इसलिए, महिलाओं को अपने लिपिड प्रोफाइल की जांच करनी चाहिए.

s38jsuqgInternational Women’s Day 2021: महिलाओं को अपने लिपिड प्रोफाइल की जांच करनी चाहिए.

6. मैमोग्राफी और पैप टेस्ट: महिलाओं में स्तन कैंसर और सर्वाइकल कैंसर दो आम कैंसर हैं. हर महिला को अपने जीवनकाल में कम से कम एक बार स्तन कैंसर के लिए मैमोग्राफी और सर्वाइकल कैंसर के लिए पैप टेस्ट का विकल्प चुनना चाहिए.

7. अस्थि घनत्व की जांच: महिलाओं को भी हड्डी से संबंधित समस्या का अधिक खतरा होता है और सामान्य रूप से अस्थि घनत्व कम होता है. विटामिन डी 3 और कैल्शियम के स्तर के लिए स्क्रीनिंग की जानी चाहिए. यह परीक्षण महिलाओं के लिए जरूरी है.

अस्वीकरण: सलाह सहित यह सामग्री केवल सामान्य जानकारी प्रदान करती है. यह किसी भी तरह से योग्य चिकित्सा राय का विकल्प नहीं है. अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी विशेषज्ञ या अपने चिकित्सक से परामर्श करें. एनडीटीवी इस जानकारी के लिए ज़िम्मेदारी का दावा नहीं करता है.

[ad_2]

Source link

Leave a comment