International Womens Day 2021: कब और कैसे हुई महिला दिवस मनाने की शुरुआत? जानिए क्या है इस साल की थीम - SARKARI JOB INDIAN

International Womens Day 2021: कब और कैसे हुई महिला दिवस मनाने की शुरुआत? जानिए क्या है इस साल की थीम

[ad_1]

International Womens Day 2021: कब और कैसे हुई महिला दिवस मनाने की शुरुआत? जानिए क्या है इस साल की थीम

Womens Day 2021: इस साल की थीम है “#ChooseToChallenge”

नई दिल्ली: Women’s Day 2021: अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस (International Womens Day 2021) हर साल 8 मार्च को मनाया जाता है. महिलाओं के प्रति सम्मान, प्रशंसा और प्यार प्रकट करते हुए इंटरनेशनल वुमन्स डे महिलाओं के आर्थिक, राजनीतिक और सामाजिक उपलब्धियों के उत्सव के तौर पर मनाया जाता है. महिलाओं को लेकर समाज के लोगों को जागरूक करने, महिलाओं को उनके अधिकारों के प्रति जागरूक करने और उन्हें प्रेरित करने के लिए भी यह दिवस बेहद महत्वपूर्ण माना जाता है. इसी कारण हर साल महिला दिवस पर अलग-अलग थीम रखी जाती हैं. 

महिला दिवस 2021 की थीम “#ChooseToChallenge”

हर साल महिला दिवस (Women’s Day) को अलग-अलग थीम के साथ मनाया जाता है. इस साल महिला दिवस की थीम ”Choose To Challenge” है. इसका मतलब है कि महिलाएं अपने विचारों और कार्यों के लिए खुद जिम्मेदार हैं और वे दुनिया को हर रोज चुनौती देती हैं. थीम आगे दर्शाती है कि महिलाएं दुनिया में जेंडर पक्षपात और असमानता को चुनौती दे सकती हैं. लोगों को महिलाओं की उपलब्धियों का जश्न मनाने की ज़रूरत है और दुनिया को समानता के साथ रहने के लिए एक बेहतर जगह बनाना चाहिए.

कैसे हुई अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस की शुरुआत?

1908 में एक मजदूर आंदोलन के बाद से अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस की शुरुआत हुई थी और 1909 में अमेरिका में पहली बार 28 फरवरी को महिला दिवस मनाया गया था. दरअसल, न्यूयॉर्क में कई हजार महिलाओं ने मार्च निकालकर नौकरी के घंटे को कम करने और वेतनमान बढ़ाने की मांग की थी. महिलाओं को उनके आंदोलन में सफलता मिली और इसके एक साल बाद सोशलिस्ट पार्टी ऑफ अमेरिका ने इस दिन को राष्ट्रीय महिला दिवस घोषित कर दिया.

8 मार्च को ही क्यों मनाया जाता है अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस?

दरअसल, 1917 में पहले विश्व युद्ध के दौरान रूस की महिलाओं ने ब्रेड और पीस के लिए हड़ताल की थी. महिलाओं ने अपनी हड़ताल के दौरान अपने पतियों की मांग का समर्थन करने से भी मना कर दिया था और उन्हें युद्ध को छोड़ने के लिए राजी किया था. इसके बाद वहां के सम्राट निकोलस को उसका पद छोड़ना पड़ा था और अंत में महिलाओं को मतदान का अधिकार भी दिया गया था. रूस की महिलाओं द्वारा यह विरोध 28 फरवरी को किया गया था. वहीं यूरोप में महिलाओं ने 8 मार्च को पीस ऐक्टिविस्ट्स को सपोर्ट करने के लिए रैलियां की थीं. महिला दिवस की शुरुआत वैसे तो 1909 में हुई थी लेकिन संयुक्त राष्ट्र द्वारा 1975 में इसे मान्यता दी गई थी. इसके बाद से विश्वभर के कई देशों में 8 मार्च को महिला दिवस (Women’s Day 2021) मनाया जाने लगा. भारत के साथ-साथ विदेशों में भी अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस को बड़ी धूमधाम से मनाया जाता है. 

[ad_2]

Source link

Leave a comment